बजट 2020/ जानें इन शब्दों का मतलब, बजट समझने में होगी आसानी

Know the meaning of these words, it will be easy to understand the budget in Hindi

केंद्र की मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल का बजट पेश करने जा रही है. ये बजट 1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देश पेश करेंगी. वहीं बजट पेश होने से पहले आप बजट के उन शब्दों के बारे में जान लें,  जिसका इस्तेमाल इसमें होता है,इससे आपको बजट समझने में आसानी होगी. वहीं ये शब्द हमारी आम जानकारी में नहीं होते हैं, इसलिए बजट को समझने के लिए आपको इन शब्दों को जानना जरूरी होता है.

जानें क्या होता है बजट ?

आम बजट में देश के सभी मंत्रालयों और सभी विभागों में साल भर( वित्तीय वर्ष) में खर्च और आमदनी का पूरा ब्योरा होता है. अगर आप आसान भाषा में इसे समझे तो जैसे हम पूरे महीने का बजट घर का तैयार करते हैं और अपनी आमदनी और अपने खर्च का पूरा ब्यौरा रखते हैं. ठीक वैसे ही सरकार भी अपनी आमदनी और अपने खर्चा का पूरा ब्यौरा देश के सामने पेश करती है. बजट के जरिए सरकार एक वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से 31 मार्च के खर्च और आमदनी का पूरा लेखा जोखा पेश करती है.

जानें बजट से जुड़े महत्वपूर्ण शब्दों को

जीडीपी- एक वित्तीय वर्ष में देश की सीमा के भीतर उत्पादित कुल वस्तुओं और सेवाओं का कुल जोड़ को जीडीपी कहते है.

डायरेक्ट टैक्स – किसी भी व्यक्ति और संस्थानों की आय और उसके इनकम के सोर्स पर इनकम टैक्स, कॉरपोरेट टैक्स, कैपिटल गेन टैक्स और इनहेरिटेंस टैक्स को डायरेक्ट टैक्स कहते है.

इनडायरेक्ट टैक्स- उत्पादित वस्तुओं और आयात-निर्यात वाले सामानों पर लगने वाला टैक्स

होता है.

 उत्पाद शुल्क –  देश में बनने वाले सभी उत्पादों पर लगने वाला टैक्‍स

 विनिवेश-  सरकार जब किसी भी पब्लिक सेक्टर कंपनी में अपनी हिस्सेदारी को निजी क्षेत्र में बेच देती है, तो उसे विनिवेश कहा जाता है.

राजकोषीय घाटा- यानी सरकार के कुल खर्च और राजस्व हासिल और गैर कर्जपूंजी प्राप्तियों के जोड़ के बीच का अंतर

बजट घाटा –  बजट घाटा कि स्थिति तब पैदा होती है, जब खर्चे, राजस्व से अधिक हो जाती है.

सीमा शुल्क- देश में आयात और निर्यात की जाने वाली वस्तुओं पर लगने वाला टैक्स सीमा शुल्क कहलाता है.

पिछला जानें आर्थिक सर्वे की बड़ी बातें, अगले वित्त वर्ष में जीडीपी ग्रोथ 6% से 6.5% रहने का अनुमान
अगला नकदी प्रवाह

अपनी टिप्पणी लिखें

Your email address will not be published. Required fields are marked *