खुशखबरी- गांव में रोजमर्रा के सामानों की बिक्री में हुआ इजाफा, FMCG कंपनियों को बढिया रेवन्यू की उम्मीद

Good news - increase in sales of daily items in the village, FMCG companies expect better revenue

एफएमसीजी

कोरोना वायरल संकट के चलते, पूरे देश में लॉकडाउन लागू किया गया था. जिसके चलते काफी नुकसान भी उठाना पड़ा था.

वहीं लॉकडाउन के बाद रूरल मार्केट में FMCG कंपनियों की बिक्री काफी बढ़ गई है. ग्रामीण इलाकों में पिछले कुछ दिनों के दौरान खपत में काफी बढ़ोतरी हुई है और बिक्री कोरोना वायरस से पहले के दौर के 85 फीसदी तक पहुंच चुकी है.

वहीं प्रवासी मजदूरों के घर लौटने का असर FMCG कंपनियों की बिक्री पर साफ दिख रहा है. लॉकडाउन के दौरान देश के ग्रामीण इलाकों में खुदरा बिक्री कोई खास झटका नहीं लगा. इसलिए बिक्री का रिकार्ड अच्छा रहा. इसकी तुलना में शहरी मार्केट में बिक्री कम रही है.

शहरों के मुताबिक रूरल इंडिया में बढ़ी मांग 

इकनॉमिक टाइम्स ने नीलसन के डेटा के हवाले से कहा है कि शहरी इलाकों में बिक्री मई में 70 फीसदी तक ही पहुंच पाई थी. वहीं अगले 9 महीनों में शहरी बाजारों में एफएमसीजी प्रोडक्ट्स की बिक्री में 5 फीसदी का इजाफा होने की उम्मीद है, लेकिन ग्रामीण इलाकों में इसमें दोगुना इजाफा हो सकता है.

दूसरी ओर हिन्दुस्तान यूनिलीवर, नेस्ले, डाबर और पार्ले समेत दस से ज्यादा कंपनियों को उम्मीद है कि मौजूदा वित्त वर्ष में उनकी बिक्री में ज्यादा हिस्सेदारी ग्रामीण बाजारों की रहेगी.

वहीं ग्रामीण बाजारों में जिस तरह खपत में फायदा दिख रहा है, उससे इन कंपनियों को अपने रेवेन्यू में अच्छी बढ़त की उम्मीद दिख रही है.

रेटिंग एजेंसी क्रिसिल का बयान

रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने कहा है कि वित्त वर्ष 2020-21 में एफएमसीजी कंपनियों की बिक्री में 2 से 3 फीसदी की कमी आ सकती है लेकिन ग्रामीण बाजारों में इसमें तेज फायदा दर्ज होगा.

भारत के 80 करोड़ लोग ग्रामीण इलाकों में रहते हैं लेकिन एफएमसीजी कंपनियों की बिक्री में उनकी हिस्सेदारी 36 फीसदी है.

साथ ही प्रवासी मजदूरों के घरों के लौटने से रूरल मार्केट में मांग बढ़ने लगी है. मनरेगा के तहत काम मिलने से प्रवासी मजदूरों के पास कैश आने लगा है. इससे भी खपत को बढ़ावा मिला है. पिछले कुछ सालों से गांवों में खपत का पैटर्न भी बदल रहा है.

पिछला बैंक छुट्टी- जुलाई में इतने दिन रहेंगे बैंक बंद, निपटा लें अपने जरूरी काम
अगला शेयर बाजार की मजबूत शुरुआत, फिर 35 हजार अंक के पार हुआ सेंसेक्स,निफ्टी में भी उछाल

अपनी टिप्पणी लिखें

Your email address will not be published. Required fields are marked *